रेलवे वैकेंस 2019

हॉन्ग कॉन्ग ऐसा लगता है कि चीन बहुत जल्द एक भयंकर वित्तीय संकट से जूझने वाला है और देश में आर्थिक मंदी छाने वाली है। जिंग रॉन्ग जाइ (फाइनैंशल वर्ल्ड) नाम की वेबसाइट पर छपे एक आर्टिकल के मुताबिक, पेइचिंग अपने सकल घरेलू उत्पाद का एक बड़ा हिस्सा सिर्फ कर्ज का ब्याज चुकाने में खर्च कर रहा है। चाइनास्कोप.ओआरजी वेबसाइट द्वारा रिपोर्टेड इस खबर के मुताबिक, चीन कर्ज का ब्याज चुकाने में जीडीपी का 15 से 16 प्रतिशत हिस्सा खर्च करता है। चाइना के चेंगशिन क्रेडिट मैनेजमेंट कंपनी के चेयरमैन को कोट करते हुए वेबसाइट ने लिखा कि भले ही चीन साल 2008 में आई वैश्विक आर्थिक मंदी के समय आर्थिक शक्ति बनकर सामने आया हो लेकिन उस दौरान उसने दुनिया में सबसे ज्यादा नोटों की छपाई का काम भी किया। जिससे अर्थव्यवस्था पर असर पड़ा। फाइनैंशल वर्ल्ड के मुताबिक, चीन के अधिकांश बिजनस बड़ी मात्रा में लिए लोन से जूझ रहे हैं। इतना ही नहीं रिपोर्ट में यह भी लिखा गया है कि ज्यादा से ज्यादा उत्पादन करने की वजह से चीन में एक ऐसी व्यापार स्थिति उत्पन्न हो गई है जिसमें मांग से ज्यादा आपूर्ति हो रही है। रिपोर्ट के आखिर में चेतावनी भरे अंदाज में लिखा है कि चीन ने खुद एक ऐसी आर्थिक स्थिति पैदा की है जो उसे वित्तीय संकट की तरफ ले जा सकता है।

स्वच्छता का मुंह चिढ़ा रहा रेलवे कॉलोनी मननपु

रेलवे लाइन की मांग को ले जनाधिकार पार्टी ने क

यात्री सुविधाओं को बेहतर बनाएं

रेलवे ने गाड़ियों के स्टेशन व स्टॉपेज में किय

पंजाब की ओर जाने वाले यात्रियों को राहत, रेल

काम की बात : बरेली की पितांबरपुर-रसुईया क्रास

आरपीएफ ने रेलवे लाइन क्रॉस करने पर 156 लोगों

ठेका व्यवस्था के चलते खतरे में ट्रेनों की संर

ट्रेन की चपेट में आने से महिला की गई जान

निजीकरण के खिलाफ गरजे कर्मचारी

ओवरब्रिज भी नहीं बना, बाजार भी उजाड़ा

अपहरण की सूचना पर हलाकान रही रेलवे पुलिस

रेलवे की भूमि और आवास पर कब्‍जे का किया प्रया

अंग्रेजों के जमाने की सब्जी मंडी पर चला बुलडो

बदहाल है रेलवे का स्वास्थ्य केंद्र

रेल महकमे में भी दिखा खराब मौसम का असर

छत्तीसगढ़ के महासमुंद में रेलवे ट्रैक पर 50 मी

संगरूर में रेलवे पटरी पर पतंग पकड़ते बच्चे को

मानसिक रूप से बीमार वृद्ध का शव रेलवे ट्रैक स

सभी यात्री ट्रेनें तीन मई तक निरस्त