पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर आडवाणी बोले- वे अपनी तीव्र बुद्धि के लिए जाने जाते थे

नईदिल्ली:पूर्वराष्ट्रपतिप्रणबमुखर्जीकेनिधनपरबीजेपीकेसीनियरनेतालालकृष्णआडवाणीनेशोकजताया.उन्होंनेपूर्वराष्ट्रपतिकोयादकरतेहुएकहाकिहमअलग-अलगविचारधाराओंवालेथेलेकिनमुलाकातकेपहलेदिनसेहमारेबीचएकपरस्परसम्मानकाबंधनबनगया.वेअपनीतीव्रबुद्धिकेलिएजानेजातेथे.

अपनेशोकसंदेशमेंलालकृष्णआडवाणीनेकहा,“लंबेसमयतकमेरेनिकटसहयोगीरहेश्रीप्रणबमुखर्जीजीकेनिधनसेमैंदुखीहूं.प्रणबदाकोहममेंसेबहुतसेलोगोंनेस्नेहकेसाथयादकिया.मेराउनकेसाथलंबाऔरयादगारसाथरहा.हालांकिमैंउनसेबड़ाहूंलेकिनप्रणबदाएकसंसदसदस्यकेतौरपरमुझसेएकसालसीनियरथे.मैंसाल1970मेंसंसदकासदस्यबनाजबकिप्रणबदा1969मेंसांसदबनेथे. हमअलग-अलगविचारधाराओंसेआतेथेलेकिनउनसेमुलाकातकेपहलेदिनसेहमदोनोंकेबीचपरस्परसम्मानकाबंधनबनगया.”

लालकृष्णआडवाणीनेकहा,“अपनीतीव्रऔरविश्लेषणात्मकबुद्धिकेलिएजानेथेऔरउनकासम्मानथा.वेअलग-अलगविचारधाराऔरराजनीतिकपृष्ठभूमिकेलोगोंकेबीचसंवादऔरसहयोगकीजरूरतपरविश्वासकरतेथे.अपनीचिंतनशीलव्यवहारमेंउनकेविभिन्नऔरलंबेसामाजिकजीवनकाअनुभवसमाहितथाजोउन्हेंएकस्टेट्समैनबनाताथाजिनकासभीराजनीतिकदलोंकेलोगसम्मानकरतेथे.”

इसकेसाथहीउन्होंनेकहा,“मेरेलिएव्यक्तिगततौरपरवेएकसहयोगीसेज्यादाथे.हमनेसामाजिकजीवनकेबाहरऔरअंदरबहुमूल्यक्षणसाझाकिएथेऔरयेबढ़करहमारेपरिवारतकपहुंचा.कईलंचजोहमनेसाथकिएउसकीयादेंहमेशामेंदिलमेंविशेषरहेगी.”

अपनेसंदेशकेअंतमेंआडवाणीनेकहा,“प्रणबदापिछलेकुछदिनोंसेअस्पतालमेंभर्तीथे.हमसभीयेउम्मीदकररहेथेकिवेजल्दीठीकहोजाएंगे.उनकाजानादेशकेलिएबहुतबड़ीक्षतिहै.मैंनेएकदोस्तखोदिया.उनकीआत्माकोशांतिमिले.मेरीशर्मिष्ठा,अभिजीतऔरइंद्रजीतऔरपरिवारकेदूसरेसदस्योंकेप्रतिसंवेदनाहै.ओमशांति.”

बतादेंकिपूर्वराष्ट्रपतिको10अगस्तकोअस्पतालमेंभर्तीकरायागयाथाऔरआजसुबहजारीएकस्वास्थ्यबुलेटिनमेंकहागयाकिवहगहरेकोमामेंहैंऔरउन्हेंवेंटीलेटरपररखागयाहै.

उनकेबेटेअभिजीतमुखर्जीनेट्वीटकिया,‘‘भारीमनसेआपकोसूचितकरनाहैकिमेरेपिताश्रीप्रणबमुखर्जीकाअभीकुछसमयपहलेनिधनहोगया.आरआरअस्पतालकेडॉक्टरोंकेसर्वोत्तमप्रयासोंऔरपूरेभारतकेलोगोंकीप्रार्थनाओंऔरदुआओंकेलिएमैंआपसभीकोहाथजोड़करधन्यवाददेताहूं.’’

पूर्वराष्ट्रपतिमुखर्जीकोदिल्लीछावनीस्थितअस्पतालमेंगत10अगस्तकोभर्तीकरायागयाथाऔरउसीदिनउनकेमस्तिष्कमेंजमेखूनकेथक्केकोहटानेकेलिएउनकीसर्जरीकीगईथी.उन्हेंबादमेंफेफड़ेमेंसंक्रमणहोगया.वे2012से2017तकदेशके13वेंराष्ट्रपतिथे.

पूर्वराष्ट्रपतिप्रणबमुखर्जीकेनिधनपरपीएममोदीबोले-मैंउनकेसाथअपनीबातचीतकोसंजोएरखूंगा