पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बोले- 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था मुमकिन, दूरदर्शी प्रबंधन से हासिल होगा लक्ष्य

कोलकाता:पूर्वराष्ट्रपतिप्रणबमुखर्जीनेविश्वासजतायाहैकि 2024-25तकपांचहजारअरबडॉलरकीअर्थव्यवस्थाबननेकेलक्ष्यकोमोदीसरकारहासिलकरसकतीहै.उन्होंनेकहाकिइस महत्वाकांक्षीलक्ष्यकोदूरदर्शीआर्थिकप्रबंधनकेमाध्यमसेहासिलकियाजासकताहै.इसकेसाथहीपूर्व राष्ट्रपतिनेकहाकि जीएसटीमेंज्यादास्पष्टताकीजरूरतहै.उन्होंनेकहाकिपिछले सालसेअर्थव्यवस्थामेंमंदीकेकुछसंकेतनजरआनेलगेथेजिससेजीडीपीवृद्धिदरकमहोगयीहै.

कोलकातामेंएसोसिएशनऑफकॉरपोरेटएडवाईजर्सएंडएक्जीक्यूटिव्स(एसीएई)के एककार्यक्रममेंउन्होंनेकहा,‘‘अगरवित्तव्यवस्थाकासहीतरीकेसेऔरदूरदृष्टिकेसाथप्रबंधनकियाजाएतोपांचहजारअरबडॉलरकीअर्थव्यवस्थाकालक्ष्यहासिलकियाजासकताहै.निवेशकेबगैरअर्थव्यवस्थामेंवृद्धिनहींहोगी.’’

वस्तु औरसेवाकर(जीएसटी)केबारेमेंप्रणबमुखर्जीनेकहा,‘‘जीएसटीलागूहोनेसेकईकरखत्महोगए.लेकिनइसमेंसरकारकीतरफसेअधिकस्पष्टताहोनीचाहिए जिससेइसकाअनुपालनबेहतरहोसके.’’बढ़तीकॉरपोरेटधोखाधड़ीपरचिंताजतातेहुएउन्होंनेकहाकिपिछलेकुछ सालोंमेंइसतरहकेघोटालेकाफीबढ़गएहैं.

पीएममोदीकीबहरीनयात्रा:स्पेससाइंस,सौरऊर्जासमेतकईमुद्दोंपरदोनोंदेशोंकेबीचहुएसमझौते

आजहोगाअरुणजेटलीकाअंतिमसंस्कार,दोपहर1.30बजेBJPमुख्यालयसेशुरूहोगीअंतिमयात्रा

बहरीनमेंपीएममोदीकाभव्यस्वागत,कहा-आजभारतीयविश्वासकेसाथआंखमेंआंखडालकरबातकररहेहैं