ज्ञानयज्ञ का सद्भाव स्वरूप है श्रीमद्भागवत : शास्त्री

जागरणसंवाददाता,खड़गपुर:पश्चिममेदिनीपुरजिलाअंतर्गतखड़गपुरस्थितईएफआरछावनीसलुवापरिसरमेंआयोजितश्रीमद्भागवतसप्ताहमहापुराणज्ञानयज्ञमेंकथावचनकरतेहुएदार्जि¨लगसेपधारेपं.घनश्यामशास्त्रीनेगुरुवारकोकहाकिश्रीमद्भागवतविश्वशांतिएवंज्ञानयज्ञकाअद्भूतस्वरूपहै।श्रीमद्भागवतकेअध्यात्मज्ञानकीगंगामेंडुबकीलगाकरभक्तभवसागरपारकरसकतेहैं।उन्होंनेकहाकिप्रतिदिनश्रीमद्भागवतकापठनअथवाश्रवणकरनेसेआत्मिकशांतिकेसाथहीसभीकष्टोंसेछुटकारामिलजाताहै।

ईएफआरवेलफेयरमहिलासमिति,सलुवाद्वाराविगत29दिसंबरसेआयोजितश्रीमद्भागवतसप्ताहमहापुराणज्ञानयज्ञकासमापन5जनवरीकोहोगा।विश्वशांतिएवंसंपूर्णपितरोंकेशांतिकेलिएआयोजितधार्मिकसमारोहमेंपं.घनश्यामशास्त्रीकेसाथपधारेआचार्यमहेशखतिवड़ाभीभक्तिरससेसराबोरकथाकाभावपूर्णपाठकरभक्तोंकोअद्भूतशांतिकाअहसासकरारहेहैं।श्रीमद्भागवतज्ञानयज्ञमेंप्रेमप्रधान,सरस्वतीप्रधानएवंनारायणकोईरालायजमानकीभूमिकामेंहैं।सलुवामेंमहिलाओंद्वारापहलीबारआयोजितश्रीमद्भागवतपाठकेआयोजनमेंईएफआरवेलफेयरमहिलासमितिकीअध्यक्षनीलमतामंग,सचिवउमादेवीमसारी,कोषाध्यक्षरत्नाराणा,संयुक्तसचिवराधाछेत्रीसमेतसभीसदस्याएंसक्रियभूमिकानिभारहीहैं।नीलमतामंगनेबतायाकिप्रथमदिनछावनीमेंविशालकलशशोभायात्रानिकालीगईथी,जिसमेंएकहजारसेअधिकमहिलाएंशामिलहुईथीं।उन्होंनेबतायाकि30दिसंबरकोसतीदेवीपूजा,31दिसंबरकोश्रीकृष्णकेवामनअवतारकावर्णन,पहलीजनवरीकोश्रीकृष्णजन्मोत्सवसेसंबंधितलीलाकावर्णनझांकियोंकेमाध्यमसेकियागया।प्रतिदिनविशेषपूजाकाआयोजनएवंभोगकावितरणकियाजारहाहै।2जनवरीकोगोव‌र्द्धनपूजावभगवानकाछप्पनभोगकरायागया,वहीं3जनवरीकोरुक्मिणीमंगलविवाहसपंन्नहुआ,जबकि4जनवरीकोकृष्णसुदामामिलनवदीपआराधनाकाआयोजनहोगाऔर5जनवरीकोपूर्णाहूतिकेसाथश्रीमद्भागवतज्ञानयज्ञकासमापनहोजाएगा।उन्होंनेकहाकिआयोजनमेंईएफआरकेअधिकारियोंएवंजवानोंकाभीपूरासहयोगमिलरहाहै।